Latest News

Latest News
• अर्नब के तीन बार टोकने पर शाहरुख़ ने दिया ऐसा जवाब की दर्शक भी हिल गए। देखें विडीओ
• इस गांव की अनोखी प्रथा शादी के बाद 5 दिन तक निर्वस्त्र रहती है दुल्हन
• तोड़ दिया रोहित शर्मा का रिकॉर्ड इस दिग्गज खिलाड़ी ने बना डाले एक ही पारी में 300 रन,नाम जानकर रह जायेंगे दंग..
• IPL 2018 फाइनल हारने के बाद हैदराबाद के खिलाड़ी मैदान पर ही ऐसे रोये की आपको भी रोना आ जायेगा ,देखे तस्वीरे …
• 19 साल पहले सलमान खान के साथ काम करने वाली ये अभिनेत्री ,आज दिखती हैं उतनी ही खूबसूरत…
• दुनिया की सबसे छोटी महिला ज्योति आमगे की निजी जिंदगी से जुड़े यह राज जानकर हैरान रह जाएंगे
• PM मोदी कर रहे थे Namo ऐप के जरिये बातचीत कि तभी जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग से इन महिलाओं ने PM मोदी को…
• मेघालय का ये लड़का तालाब के किनारे बैठकर ले रहा था सेल्फी तभी हुआ कुछ ऐसा…
• माँ की मौत पर भी आँख से एक आंसू तक न निकला इस मशहूर अभिनेता का …नशे की हालत में था इतना टल्ली
• बड़ी खबर : अगर शादीशुदा हैं तो खुलवाएं ये वाला बैंक अकाउंट, सीधे मिलेंगे 50 लाख रुपए !
• CM बनने के चार दिन के अंदर कुमारस्वामी के पलट गए तेवर, जनता से पहले कांग्रेस है माईबाप, कर्नाटक की जनता का भड़का गुस्सा
• रानियों जैसी जिंदगी जीती है किंग्स इलेवन पंजाब की मालकिन प्रीति जिंटा, देखिये तस्वीरे
• ये खतरनाक विलेन अपने से 20 साल छोटी इस मशहूर अभिनेत्री से शादी करने जा रहा है ? नाम होश उड़ा देगा!
• पत्नी के नाम पर बैंक खाता है, मोदी सरकार ने किया बड़ा नियम लागू,अभी जानिए !
• आज से पहले आपने नहीं सुने होंगे ऐसे नाम, किसी के सामने बोलने से पहले आयेगी शर्म !!

योगी के डर से अब अपराधियों को जेल ही लगने लगी है सुरक्षित

यूपी के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल के पहले 10 महीने में यूपी पुलिस के ‘ऐक्शन’ के डर से 5500 अपराधियों ने अपनी जमानत रद्द कराई है। अपराध समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करने आगरा पहुंचे डीजीपी ने कहा कि अपराधियों के खिलाफ यूपी पुलिस की कार्रवाई को सफल बनाने के लिए एसटीएफ ने निष्ठापूर्वक प्रयास किए हैं।

डीजीपी ने कहा, ‘मार्च 2017 से जनवरी 2018 के बीच 10 महीनों में यूपी पुलिस ने 1331 एनकाउंटर किए हैं। इसमें 3091 वांछित अपराधी गिरफ्तार किए गए हैं और 43 को मार गिराया गया। इनमें से 50 फीसदी के ऊपर इनाम घोषित था। इसमें से कई ऐसे थे जो लंबे समय से फरार चल रहे थे। ऐक्शन के डर से पिछले 10 महीने में 5409 अपराधियों ने कोर्ट से अपनी बेल रद्द कराई है।’

उन्होंने बताया कि इस वर्ष होली के दौरान दो पक्षों में संघर्ष के 14 मामले सामने आए जिसमें कुछ सांप्रदायिक संघर्ष के मामले शामिल हैं। यह वर्ष 2013 से हर साल औसतन इसी तरह के 60 मामलों से कम है। सिंह ने कहा, ‘पूरी तैयारी और पुलिस की सतर्कता के चलते इस बार होली का त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से मनाया गया।’

यूपी के डीजीपी ने कहा, ‘पुलिस अधिकारियों की अपील पर मुस्लिम नेताओं ने जुमे की नमाज का समय बदल दिया ताकि कानून और व्यवस्था को बनाए रखा जा सके। इस तरह के सोशल पुलिसिंग के जरिए हम सभी त्योहारों और सार्वजनिक कार्यक्रमों को शांतिपूर्ण तरीके से कराते रहेंगे।’ महिलाओं के खिलाफ अपराध के बारे में उन्होंने कहा कि 3400 मामलों में कानूनी कार्रवाई की गई है।

Related Articles