Latest News

Latest News
• कभी सुना है? मर्दो का सोलह श्रृंगार: यहां मर्द नौकरी और बीवी के लिए करते हैं श्रृंगार…!!
• रेलवे स्टेशन के बाहर कमरे, मात्र 150 में मिल रही मनचाही लड़की,400 वाला पैकेज तो होश ही उड़ा देगा…!!
• अभी अभी : 12वी मंज़िल से कूदा बॉलीवुड का ये मशहूर सिंगर…शोक में डूबा है पूरा बॉलीवुड !
• शादी से 2 दिन पहले तक इस हीरोइन के साथ चल रहा था सुरेश रैना का चक्कर, नाम सुनकर उड़ जाएंगे होश
• ऐश्वर्या को साइकिल पर पटना घुमाने निकले तेजप्रताप, वायरल हो रहा फोटो
• आलिया भट्ट करना चाहती है इस सुपरस्टार से शादी,नाम जानकर आप हैरान रह जाएंगे
• प्रीति जिंटा ने इस खिलाड़ी को माना पंजाब के हार का सबसे बड़ा दोषी अब नहीं खेलेगा पंजाब में…!!
• इस ज्योतिषाचार्य ने की थी संजय-इंदिरा गाँधी की मौत की भविष्यवाणी, अब पीएम मोदी को लेकर किया है बड़ा खुलासा !
• इस मशहूर अभिनेत्री ने फिल्मो में दिया बेहद ही बोल्ड सीन, अब कर रही है सीरियल में आने की तैयारी।
• बड़ी खबर : Jio, idea, Airtel, BSNL, कैसे भी एक से ज्यादा SIM कार्ड है तो अभी देखे !
• ख़तरा अभी टला नहीं : मौसम विभाग ने किया हाई अलर्ट, स्कूल, बिजली, बंद…!!
• मिस यूनिवर्स के साथ एक ही कमरे में रहते थे संजय दत्त,पत्नी ने पकड़ लिया रंगे-हाथ और फिर..
• IPL 2019 में इन तीन बल्लेबाज की कीमत होनी चाहिए 15 करोड़ से भी ज्यादा…
• IPL के बीच जानिए क्या है मशहूर पाकिस्तानी बॉलर शोएब अख्तर की मौत का सच ?
• 2019 में ये बनेंगे देश के प्रधानमंत्री, ज्योतिषों ने की अब तक की सबसे बड़ी भविष्यवाणी…!!

योगी के डर से अब अपराधियों को जेल ही लगने लगी है सुरक्षित

यूपी के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल के पहले 10 महीने में यूपी पुलिस के ‘ऐक्शन’ के डर से 5500 अपराधियों ने अपनी जमानत रद्द कराई है। अपराध समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करने आगरा पहुंचे डीजीपी ने कहा कि अपराधियों के खिलाफ यूपी पुलिस की कार्रवाई को सफल बनाने के लिए एसटीएफ ने निष्ठापूर्वक प्रयास किए हैं।

डीजीपी ने कहा, ‘मार्च 2017 से जनवरी 2018 के बीच 10 महीनों में यूपी पुलिस ने 1331 एनकाउंटर किए हैं। इसमें 3091 वांछित अपराधी गिरफ्तार किए गए हैं और 43 को मार गिराया गया। इनमें से 50 फीसदी के ऊपर इनाम घोषित था। इसमें से कई ऐसे थे जो लंबे समय से फरार चल रहे थे। ऐक्शन के डर से पिछले 10 महीने में 5409 अपराधियों ने कोर्ट से अपनी बेल रद्द कराई है।’

उन्होंने बताया कि इस वर्ष होली के दौरान दो पक्षों में संघर्ष के 14 मामले सामने आए जिसमें कुछ सांप्रदायिक संघर्ष के मामले शामिल हैं। यह वर्ष 2013 से हर साल औसतन इसी तरह के 60 मामलों से कम है। सिंह ने कहा, ‘पूरी तैयारी और पुलिस की सतर्कता के चलते इस बार होली का त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से मनाया गया।’

यूपी के डीजीपी ने कहा, ‘पुलिस अधिकारियों की अपील पर मुस्लिम नेताओं ने जुमे की नमाज का समय बदल दिया ताकि कानून और व्यवस्था को बनाए रखा जा सके। इस तरह के सोशल पुलिसिंग के जरिए हम सभी त्योहारों और सार्वजनिक कार्यक्रमों को शांतिपूर्ण तरीके से कराते रहेंगे।’ महिलाओं के खिलाफ अपराध के बारे में उन्होंने कहा कि 3400 मामलों में कानूनी कार्रवाई की गई है।

Related Articles