देश में इस समय कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर चल रही राजनीति में सभी व्यस्त हैं. राज्य में सबसे ज्यादा सीट लाने वाली बीजेपी पार्टी ने अपनी सरकार बना ली है लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें 19 मई को बहुमत साबित करने के लिए बोला है. जिसके चलते खबर भी आई थी कि कांग्रेस के 8, जेडीएस के 2 और अन्य के 2 विधायक बीजेपी के पक्ष में आ गये हैं ? इसी के साथ राज्य के मुख्यमंत्री बने येदियुरप्पा ने भी कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि हम कल बहुमत साबित करेंगे. इसी बीच एक और बड़ी खबर आ रही है जिसे जानने के बाद विरोधी पार्टियों के होश उड़ जायेंगे.

जानकारी के लिए बता दें यह खबर उत्तर-प्रदेश से आ रही है. यूपी के कैराना में उपचुनाव नजदीक आता जा रहा है जिसके चलते सूबे की पार्टियों ने भी तैयारियां शुरू कर दी है. इस बार चुनाव में भाजपा किसी भी प्रकार की गलती दोहराना नहीं चाहती है. इस उपचुनाव में अपना सब कुछ खो चुकी रालोद भी वापसी करना चाहती है, इतना ही नहीं सपा ने भी रालोद को समर्थन दे दिया है लेकिन फिर भी वह कोई गलती करना नहीं चाहती है. अब चुनाव से पहले आ रही इस खबर ने सपा और रालोद को सदमे में पहुंचा दिया है.

गौरतलब है कि रालोद राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी साहब सिंह ने शुक्रवार को रालोद को बड़ा झटका देते हुए बीजेपी ज्वाइन कर ली है. जानकारी के लिए बता दें कैराना में उपचुनाव 28 मई को होना है. चुनाव से पहले बीजेपी ने विरोधी पार्टियों को तगड़ा झटका दे दिया है. लखनऊ स्थित भाजपा मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय की उपस्थिति में रालोद नेता साहब सिंह ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. रालोद के मुखिया अजीत सिंह के साथ इस चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती को भी बड़ा झटका लगा है.

बसपा को एक बार फिर यूपी में बड़ा झटका लगा है. बता दें बसपा के दो नेताओं ने भी भाजपा का दामन थाम लिया है. बता दें प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय की मौजूदगी में चौधरी साहब सिंह, संभल के बसपा नेता चरण सिंह भारती और मुरादाबाद के बसपा जिलाध्यक्ष रजनीकान्त जाटव ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. राजनीति समीकरण के हिसाब से रालोद के चौधरी साहब सिंह का भाजपा में शामिल होना रालोद के अध्यक्ष अजीत सिंह के लिए बड़ा झटका लग सकता है.

गौरतलब है कि रालोद राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी साहब सिंह ने शुक्रवार को रालोद को बड़ा झटका देते हुए बीजेपी ज्वाइन कर ली है. जानकारी के लिए बता दें कैराना में उपचुनाव 28 मई को होना है. चुनाव से पहले बीजेपी ने विरोधी पार्टियों को तगड़ा झटका दे दिया है. लखनऊ स्थित भाजपा मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय की उपस्थिति में रालोद नेता साहब सिंह ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. रालोद के मुखिया अजीत सिंह के साथ इस चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती को भी बड़ा झटका लगा है.

बसपा को एक बार फिर यूपी में बड़ा झटका लगा है. बता दें बसपा के दो नेताओं ने भी भाजपा का दामन थाम लिया है. बता दें प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय की मौजूदगी में चौधरी साहब सिंह, संभल के बसपा नेता चरण सिंह भारती और मुरादाबाद के बसपा जिलाध्यक्ष रजनीकान्त जाटव ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. राजनीति समीकरण के हिसाब से रालोद के चौधरी साहब सिंह का भाजपा में शामिल होना रालोद के अध्यक्ष अजीत सिंह के लिए बड़ा झटका लग सकता है.

गौरतलब है कि रालोद राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी साहब सिंह ने शुक्रवार को रालोद को बड़ा झटका देते हुए बीजेपी ज्वाइन कर ली है. जानकारी के लिए बता दें कैराना में उपचुनाव 28 मई को होना है. चुनाव से पहले बीजेपी ने विरोधी पार्टियों को तगड़ा झटका दे दिया है. लखनऊ स्थित भाजपा मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय की उपस्थिति में रालोद नेता साहब सिंह ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. रालोद के मुखिया अजीत सिंह के साथ इस चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती को भी बड़ा झटका लगा है.

बसपा को एक बार फिर यूपी में बड़ा झटका लगा है. बता दें बसपा के दो नेताओं ने भी भाजपा का दामन थाम लिया है. बता दें प्रदेश अध्यक्ष डॉ महेंद्रनाथ पांडेय की मौजूदगी में चौधरी साहब सिंह, संभल के बसपा नेता चरण सिंह भारती और मुरादाबाद के बसपा जिलाध्यक्ष रजनीकान्त जाटव ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है. राजनीति समीकरण के हिसाब से रालोद के चौधरी साहब सिंह का भाजपा में शामिल होना रालोद के अध्यक्ष अजीत सिंह के लिए बड़ा झटका लग सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.