कहते हैं वक्त सबका आता है और वक्त हर वह चीज दिखाता है जो जीवन में धूप छांव की तरह सुख-दुख लेकर आती है। जिस तरह हम अपने सुख में सुखी और दुख में दुखी हो जाते हैं उसी तरह से यदि जीवन में कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो जीवन बहुत सरल हो जाता है और जीवन में हर वह चीज हम हासिल कर सकते हैं जिसका हमने कभी सपना देखा हो। ऐसा ही एक किस्सा जो सच्ची घटना पर आधारित है और सब के लिए एक प्रेरणा है हमारे सामने आई। यह कहानी है केरल के एक आम इंसान की जिसका नाम रुपेश थॉमस है जो 39 साल का है वह अपने जीवन में कड़े संघर्ष के बाद आज करोड़ों का मालिक बन बैठा है। कभी साडे ₹350 प्रति घंटे के कमाता था लेकिन आज करोड़ों का मालिक बन बैठा है और दो घर है उसके जो करोड़ों की कीमत रखते हैं। आइए जानते हैं यह प्रेरणादायक कहानी….

रुपेश थॉमस केरल के रहने वाले हैं जिन्हें कुछ बनने की इच्छा लंदन खींच कर ले गई। ज्यादा कुछ तो नहीं था उस समय उनके पास जब वह 23 साल के थे और केरल में रहा करते थे लेकिन आज उनके पास 2 बंगले हैं जो 10 से 12 करोड़ की कीमत के हैं। इंग्लैंड में स्थित कुंडू बंगलो में आज थॉमस बड़ी ठाठ से रहते हैं लेकिन उसके पीछे उनकी संघर्ष भरी कहानी है।

रुपेश ने बताया कि उसने 23 साल की उम्र में केरल में अपनी Yamaha बाइक ₹28000 में बेच दी थी और कुछ पैसे अपने पिताजी से लेकर वह लंदन चला गया उस समय वह मैकडोनाल्ड में नौकरी किया करता था जहां उसे 350 सौ रुपए 1 घंटे के लिए मिलते थे। उसके बाद उसे मार्केटिंग की जॉब मिली जिसमें वह घर घर जाकर छोटे-मोटे प्रोडक्ट्स बेचा करता था। उसकी लगन और मेहनत देखकर जल्द ही कंपनी में उसे प्रमोशन मिल गया और अच्छी जॉब पर रखा गया।

मार्केटिंग करते समय उसके चेहरे पर हमेशा मुस्कान रहती थी और उसने बताया कि वह कभी इस चीज का दुख नहीं किया कि उसके पास छोटी सी नौकरी है कोई बड़ा बिजनेसमैन नहीं हूं मैं.. साल 2007 में उसकी मुलाकात एलेक्जेंड्रा से हुई जिसे भारतीय चाय बेहद पसंद थी। उन दोनों में प्यार के चलते दोनों की शादी हो गई और बाद में दोनों साथ रहने लगे। थॉमस की पत्नी को भारतीय चाय बेहद पसंद थी तो थॉमस को चाय बनाने का आईडिया आया।

इंग्लैंड में उसने अपनी चाय बनाकर जगह-जगह पर बेचने शुरू कर दी और जिसके चलते हैं उसका व्यापार दिन-ब-दिन दुगना होता गया और बढ़ते बढ़ते चाय की मार्केटिंग उसने हर जगह शुरू कर दी आज वह अपने उसी व्यापार से करोड़ों रुपए का मालिक बन बैठा है। उसके चाय के बिजनेस में 20 करोड़ से भी ऊपर का आंकड़ा पार कर लिया है। इंग्लैंड में उसके दो बंगले भी है। उसने अपनी फ्रेंड लोकप्रिय तो अब बड़े बड़े लग्जरी डिपार्टमेंटल स्टोर में जाते हैं।

350 रुपये कमाने वाले रूपेश को आज उनके इस आईडिया ने मिलेनियर बना दिया है। आज वह 9 करोड़ के बंगले में रहते है उनका एक 7 सात साल का बेटा भी है। और दूसरा बंगला साउथ लंदन के क्रेडॉन में 3 करोड़ रुपए का है। उनके बिजनेस टुक टुक चाय की कीमत 18 करोड़ रुपए को पार चुकी है। रूपेश की कहानी उन लोगों के लिए प्रेरणादायक है जो लोग अपने जीवन में हार मान कर बैठ जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.